Share This Post

Nasscom Community

जानिये क्लाउड VPS के बारे में 9 बातें जो आप को हैरान कर देंगी

आज के लगातार बदलते माहौल में अस्तित्व में बने रहने की कुंजी यह है कि बदलाव को अपनाएं। यह डिजिटल परिवर्तन का युग है, जहाँ कुछ बिज़नेस डिजिटल तैयार हैं और कुछ धीरे-धीरे रूपांतरण कर रहे हैं। आज के इंटरप्राइजेज निश्चित रूप से ‘क्लाउड’ अपना रहे हैं क्योंकि इसके कई लाभ है, जैसे आर्थिक लाभ, चपलता, गति, स्केलेबिलिटी, अधिक सक्रिय रहने की अवधि, स्थान की स्वतंत्रता, अधिक सहयोग, इत्यादि। यहाँ तक कि क्लाउड का इस्तेमाल मौलिक वस्तुओं, जैसे मोबाइल, घड़ी, टीवी गेम्स आदि में भी हो रहा है। गार्टनर के एक सर्वे के मुताबिक, लगभग 60 प्रतिशत संगठनों ने अगले दो से पांच वर्षों में क्लाउड में ज्यादा निवेश करने की उम्मीद जताई, जबकि केवल 6 प्रतिशत संगठन निवेश में कमी लाने का विचार कर रहे थे। क्लाउड VPS क्या है?   VPS का पूरा नाम वर्चुअल प्राइवेट सर्वर (virtual private server) होता है। क्लाउड VPS एक ऐसा VPS होता है जो क्लाउड में configure किया जाता है। ये छोटे व मध्यम व्यवसायों, समाधान प्रदाताओं और वेब पेशेवरों को dedicated सर्वर की लागत के एक अंश पर सर्वर के रिसोर्सेज का उपयोग और नियंत्रण करने की अनुमति देता है। क्लाउड VPS उन बिज़नेस के लिए अच्छा विकल्प है जो अपने shared सर्वर से काफी आगे बढ़ चुके है। ये ट्रेडिशनल होस्टिंग प्लेटफार्म से बहुत अलग है। क्लाउड VPS के बारे में 9 बातें जो आपको पता होनी चाहिए– 1. करीबी नियंत्रण क्लाउड VPS में SAN नामक एक आसान और प्रबंधित स्टोरेज सोल्युशन होता है, जो आपको बहुत सारी disks का अलग-अलग सञ्चालन करने से छुटकारा दिलाता है। SAN का पूरा नाम स्टोरेज एरिया नेटवर्क (Storage Area Network) होता है। ये आपको डेटा पर करीबी नियंत्रण बनाए रखने में मदद करता है। इसके साथ साथ, SAN आपको तेज backup bandwidth और तीव्र गति का नेटवर्क भी देता है। 2. कहीं से भी एक्सेस करें दुनिया के किसी भी कोने से, किसी भी समय, आप अपने डेटा और सेवा तक पहुंच सकते हैं। और जैसा कि आप जानते हैं, सापेक्ष गतिशीलता और डेटा का नियंत्रण कंपनी के कार्यप्रवाह को प्रभाव के उच्च स्तर तक ले जा सकता है। 3. सिस्टम पर विफलता के प्रभाव को कम करें क्लाउड VPS आपके इलेक्ट्रिक जनरेटर की तरह काम करता है। जिस प्रकार बिजली गुल होने पर इलेक्ट्रिक जनरेटर आपके घर में बिजली की आपूर्ति करता है, उसी प्रकार अगर आपके virtual मशीन का कोई भी नोड विफल हो जाता है तो virtual मशीन अपने आप ही दूसरे नोड पर आ जाती है। इस से सिस्टम डाउनटाइम और विफलता का प्रभाव कम हो जाता है। 4. सुरक्षा क्लाउड VPS पर आपका डेटा उतना सुरक्षित है जितना यह आपके परिसर में होता है। ये आपके डेटा को कई उपकरणों पर संचय करता है, जिस से आप इसे तब भी प्राप्त कर सकते हैं, जब सर्वर में कोई समस्या या दुर्घटना हो। 5. कैसा हो अगर आपको बिज़नेस डाटा के मुताबिक जितनी भी जगह की आवश्यकता हो, उतनी मिल जाये! आप अपने VPS की स्टोरेज क्षमता बिज़नेस के अनुसार बढ़ा या घटा सकते है। स्टोरेज के साथ साथ, अगर आप चाहे तो RAM व CPU प्रदर्शन को भी बिना किसी डाउनटाइम के बढ़ा सकते है। इसमें आपको वेबसाइट विस्थापित करने की भी आवश्यकता नहीं है। 6. तत्काल सर्वर प्रावधान आप WordPress, Drupla या Opencart जैसे pre-configured और कस्टम टेम्पलेट्स के साथ अपने क्लाउड VPS का प्रावधान कर सकते है। ये न केवल आपकी वेबसाइट को पेशेवर रूप प्रदान करते है, बल्कि नए सर्वर का बूटिंग समय भी कम कर देते है। 7. बेहतर समूह कार्य चूंकि आपका सारा डेटा क्लाउड में एक स्थान पर मौजूद है, आप किसी प्रोजेक्ट या दस्तावेज़ पर काम करते समय आसानी से अपनी टीम के अन्य सदस्यों के साथ सहकार्य कर सकते हैं। यह आपका काम आसान बनाता है और समय बचाता है। 8. किफायती क्लाउड VPS विश्वसनीय होने के साथ-साथ किफायती भी है। अधिकांश सर्विस प्रदाता आपको अपनी इच्छा अनुसार संसाधन चुनने देते है। इस से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आपको केवल एक घंटे के लिए अधिक प्रभावशाली सर्वर की आवश्यकता है, या फिर एक दिन के लिए अधिक हार्ड डिस्क की। केवल उन संसाधनों के लिए भुगतान करें जिनका आप उपयोग करते हैं। 9. वेबसाइट की गति एक बेहतरीन डिजाइन के साथ एक भव्य वेबसाइट बनाने का कोई मतलब नहीं है, अगर आपकी वेबसाइट धीमी गति से चलती है। विसिटर्स उन वेबसाइट को पसंद नहीं करते जो पेज लोड तक उनको इंतजार करवाती है। क्लाउड वीपीएस होस्टिंग में, ट्रैफ़िक प्रवाह परिवर्तन या SSL अनुरोधों जैसे वर्कलोड्स को सर्वर में इस तरह से वितरित किया जाता है कि प्रत्येक संसाधन बेहतर प्रदर्शन प्रदान करता है। इस से आपकी वेबसाइट तेजी से लोड होती है और ट्रैफिक भी बढ़ता है। Originally Published in ZNetLive

The post जानिये क्लाउड VPS के बारे में 9 बातें जो आप को हैरान कर देंगी appeared first on NASSCOM Community |The Official Community of Indian IT Industry.

Share This Post